Posts

Showing posts from March 3, 2018

राजनीतिशास्त्र का अर्थ एवं परिभाषा Rajniti Shastra ka Arth Avem Paribhasha

राजनीतिशास्त्र का अर्थ एवं परिभाषा  Rajniti Shastra ka Arth Avem Paribhasha  मनुष्य के राजनीतिक जीवन का अध्ययन करने हेतु उन संस्थाओं की जानकारी प्राप्त
करना आवश्यक होता हैं, जिनके अन्तर्गत मनुष्य ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की,
जिसके द्वारा वह अपने राजनीतिक जीवन के विकास हेतु प्रयासरत है। इस प्रकार की राजनीतिक
संस्थाओं में राज्य सबसे प्रमुख हैं। राज्य अथवा समाज द्वारा मनुष्य अपने समस्त आवश्यकताओं
की पूर्ति करता है। मनुष्य की इन आवश्यकताओं तथा उनके सामाजिक सम्बन्धों के माध्यम से अनेक सामाजिक शास्त्रों का जन्म हुआ इन्हीं सामाजिक शास्त्रों के अन्तर्गत अन्तर्गत राजनीतिशास्त्र भी आता हैं। प्रत्येक सामाजिक शास्त्र सामाजिक जीवन के समग्र पहलुओं का अध्ययन नहीं करता वरन्
किसी एक पहलु का ही ,यही बात राजनितिशास्त्र पर भी लागु होती है। जहा तक राजनीतिशास्त्र के
अध्ययन का सवाल है इसके अन्तर्गत राज्य, सरकार, राजनीतिक संघटन तथा संस्थायें, राजनीतिक
क्रिया कलाप तथा राजनीतिक सम्बन्धों सहित राजनीतिक जीवन के समस्त पक्ष आ जाते हैं। इस विषय का जन्मदाता यूनानी चिंतक अरस्तु को माना जाता है। राजनीति शब्द …